India Rastogi Rustagi Rohatgi Varanasi, Farrukhabad, Kanpur, Meerut, Ghaziabad, Moradabad, lucknow Rustogi Rastogee RastogiWorld.com, Rastogi online | Rohatgi Rohatgee haryana bawal | Rohtash Rohtashgarh bihar India facts, bharat,भारत, interesting facts, hindu dharam, indus civilization, zero, pie, - RastogiWorld.com - Rastogi Rustagi Rohatgi Dublish : India number 1 and only website for Maharaja HarishChandra Bandhu Samaj
Dear Member! Click here for New RastogiWorld Beta Portal.
.
 
Rastogi Rustagi Rohatgi Rohtash Dublish RostogiHomeRastogi Rustagi Rohatgi Rohtash Dublish Rostogi Matrimonial Rastogi Rustagi Rohatgi Rohtash Dublish Rostogi Rastogi Rustagi Rohatgi Rohtash Dublish RostogiMembership Plans Rastogi Rustagi Rohatgi Rohtash Dublish Rostogi More Attractions Rastogi Rustagi Rohatgi Rohtash Dublish Rostogi Rastogi Rustagi Rohatgi Rohtash Dublish RostogiWhy Advertise with us Rastogi Rustagi Rohatgi Rohtash Dublish Rostogi Rastogi Rustagi Rohatgi Rohtash Dublish RostogiContact usRastogi Rustagi Rohatgi Rohtash Dublish RostogiAbout usRastogi Rustagi Rohatgi Rohtash Dublish Rostogi
Hi Guest! Matrimonial Members Log In Become a Matrimonial member, Register Now

 RW Matrimonial
Matri Login
Bride / Groom Search
Advanced Search
Forgot ID / Password
Matri Success Stories
Post Success Story
Matri Registration
 Kids Corner
आखिर मादा मच्छर ही क्यों काटती है...
Visits: 4608 | Date: 09/03/14
कोक-पेप्सी आदि कोल्ड-ड्रिंक्स वास्त...
Visits: 7129 | Date: 23/03/13
मैगी:"यानि टेस्ट भी हेल्थ भी"???...
Visits: 47588 | Date: 06/11/12
National Symbol...
Visits: 5300 | Date: 18/10/12
View All Kids Articles
Post an Article
 Devotional
शिवरात्र...
Visits: 3274 | Date: 08/02/15
8 मार्च से होलाष्टक शुर...
Visits: 3225 | Date: 09/03/14
रावण...
Visits: 5044 | Date: 24/08/13
श्री शिवमहापुराण में ...
Visits: 4234 | Date: 26/07/13
View All Devotional
Publish an Article
 Rising Star
Mukul Rohatgi...
Visits: 4351 | Date: 01/07/14
Deepak rastogi...
Visits: 4936 | Date: 11/10/13
Abhishant Kr....
Visits: 5457 | Date: 13/05/13
Dr. Aruna Dubl...
Visits: 4586 | Date: 05/05/13
View All Stars
 News/Articles
RastogiWorld.com And...
Visits: 4238 | Date: 19/03/14
जापान से सिखने के लिए हमारे पास मस्तिष्क क...
Visits: 4231 | Date: 22/09/13
कौन सी कम्पनी हमारे देश में कब आयी और कितन...
Visits: 4034 | Date: 24/08/13
कहाँ गए आर्य? कब जागेगी आर्य संस्कृति??...
Visits: 3818 | Date: 26/07/13
Motivational Stories
Interesting News
Indian Culture
About India
View All News
Publish a News
 Just Born
Aditya rastogi...
Visits: 3589 | Date: 24/12/13
Nivedan Rastogi...
Visits: 4359 | Date: 16/10/13
Navya Rastogi...
Visits: 3766 | Date: 03/10/13
KAVYA RASTOGI...
Visits: 5104 | Date: 17/04/13
View All B'days
Post a New Born
 Obituary
Raghunandan Prasad Rastogi...
Visits: 3426 | Date: 25/05/14
Shubhraj Rasto...
Visits: 3284 | Date: 10/05/14
Prof. (Retd.) ...
Visits: 4248 | Date: 01/06/13
R. B. Rastogi...
Visits: 4675 | Date: 08/03/13
View All Obituaries
Post an Obituary
 Recpies
पनीर मसाला...
Visits: 4229 | Date: 24/08/13
चिल्ली पनीर | Chilli Paneer...
Visits: 5181 | Date: 25/02/13
मजेदार लज़ीज़ लाजë...
Visits: 9225 | Date: 27/11/11
छोले - भटूरे, पिंडी छ&...
Visits: 6740 | Date: 27/11/11
View All Recipes
Post a Recipe
 Jokes
munturian ...
Visits: 4026 | Date: 06/05/14
Biscuit wala's ...
Visits: 3842 | Date: 21/03/14
मुर्गी का बच्चा...
Visits: 3876 | Date: 28/01/14
happy birthday ...
Visits: 4014 | Date: 25/10/13
View All Jokes
Post a Joke
 SMS/Poems
Wada ham ne ki...
Visits: 3040 | Date: 27/10/13
Usko aadat he ...
Visits: 3227 | Date: 27/07/13
चलो अच्छा हुआ, जो तु...
Visits: 4026 | Date: 23/03/13
बहुत एहसान है......
Visits: 3602 | Date: 23/03/13
View All SMS/Poems
Post an SMS/Poem
You are here: Home > India > भारत दर्शन
India : भारत दर्शन
Posted by: Navneet Rastogi (Nabbu)   |   Posted on: 26/11/2011   |   Views: 3020   |    376 Likes
भारत, जो कि विश्व के सबसे बड़े देशों में सातवाँ स्थान रखता है, की सभ्यता संसार की सर्वाधिक प्राचीन सभ्यताओं में से एक है। अनेक पर्वतमालाएँ, अनेक समुद्रतट, विशाल रेगिस्तान आदि भारत को एक विशिष्ट भौगोलिक पहचान प्रदान करते हैं। भारत पूर्व में बंगाल की खाड़ी से, दक्षिण में हिन्द महासागर से, पश्चिम में अरब सागर से और उत्तर दिशा में हिमालय की पर्वतश्रेणियों से घिरा हुआ हैं।

हिमाच्‍छादित हिमालय की ऊंचाइयों से शुरू होकर दक्षिण के विषुवतीय वर्षा वनों तक फैले हुए भारत का क्षेत्रफल 32,87,263 वर्ग कि.मी. है। 1 मार्च 2001 के अनुसार भारत की जनसंख्‍या 1,028 मिलियन (532.1 मिलियन पुरुष और 496.6 मिलियन स्‍त्री) थी, जो कि अब तक और भी बढ़ चुकी है।

प्राचीन सिंधु घाटी सभ्यता का उद्गम स्थल भारत चार प्रमुख धर्मों, हिंदू धर्म, बौद्ध धर्म, जैन धर्म और सिख धर्म की उद्भव भूमि भी है, जबकि पारसी धर्म, यहूदी धर्म, ईसाई धर्म और इस्लाम धर्म भी इसमें समाहित हैं।

भारत ने अपने एक लाख वर्ष के इतिहास में कभी किसी अन्य देश पर आक्रमण नहीं किया।

पुरातात्विक अनुसन्धानों के अनुसार आज से पाँच हजार वर्ष पूर्व, जब विश्व की अनेक संस्कृतियाँ कन्दराओं और घने जंगलों में निवास करती थीं, सम्पूर्ण भारत, विशेषतः सिन्धु घाटी, में एक अत्यन्त विकसित सभ्यता का आविर्भाव हो चुका था। वाल्मीकि रामायण में पाए जाने वाले अयोध्या, विशाखा, मिथिला, मलदा, करूप आदि विशाल अट्टालिकाओं, सुरम्य वाटिकाओं, साफ सुथरे चौड़े मार्गों वाले नगरों के वर्णन सिद्ध करते हैं कि भारत में इससे भी पूर्व नगरीय सभ्यता का विकास हो चुका था।

बौद्धिक खेल शतरंज का आविष्कार भारत में हुआ, शतरंज को प्राचीन भारत में चतुरंग के नाम से जाना जाता था।

बीजगणित (Algebra), त्रिकोणमिति (Trigonometry), चलन कलन (Calculus) आदि गणित के विभागों का उद्गम भारत में हुआ।

स्थान मूल्य प्रणाली (Place Value System) और दशमलव प्रणाली (Decimal System) का विकास भारत में ई.पू. 100 में हुआ।

विश्व का प्रथम गणतन्त्र वैशाली भारत में था।

संसार का पहला विश्वविद्यालय भारत के तक्षशिला में ई.पू. 700 में स्थापित हुआ जहाँ पर विश्व भर के 10,500 से भी अधिक विद्यार्थी 60 से भी अधिक विषयों का अध्ययन करते थे। चौथी शताब्दी में स्थापित नालंदा विश्वविद्यालय शिक्षा के क्षेत्र में भारत का महानतम उपलब्धि रही।

चिकित्सा के क्षेत्र में चिकित्सा की प्राचीनतम पद्धति आयुर्वद भारत की ही देन है। शल्य चिकित्सा का आरम्भ भारत से ही हुआ।

पृथ्वी के द्वारा सूर्य का एक चक्कर लगाने में लगने वाले समय की गणना हजारों साल पहले भास्कराचार्य ने कर लिया था। उनके अनुसार यह अवधि 365.258756484 दिन हैं।

बोधायन ने हजारों साल पहले पाई का मान ज्ञात कर लिया था।

सन् 1896 तक पूरे विश्व में भारत ही हीरे का अकेला स्रोत था।

17वीं शताब्दी तक भारत विश्व का सर्वाधिक धनाड्य देश रहा।



Category: India | Navneet Rastogi (Nabbu) | Posted on: 26/11/2011
Keywords: India facts, bharat,भारत, interesting facts, hindu dharam, indus civilization, zero, pie,


Posted by: Navneet Rastogi (Nabbu)   |   Posted on: 26/11/2011   |   Views: 3020   |    376 Likes   |   Like it


ADD FACEBOOK COMMENTS

FACEBOOK LIKES

FOLLOW RASTOGIWORLD ON FACEBOOK

PPL WHO LIKES RASTOGIWORLD.COM on FB



Read more related India

हिन्दू नव-वर्ष (चैत्रीय नवरात्र) और हम
ना तो जनवरी साल का पहला मास है और ना ही 1 ...
Likes: 317 | Visits: 2999
क्या आप जानते हैं कि......
क्या आप जानते हैं...
Likes: 381 | Visits: 4001
देवास के निष्कलंकेश्वर महादेव, जहां दूर होता है कुष्ठ रोग!
देवास से करीब 25 कि...
Likes: 363 | Visits: 3438
उत्तर प्रदेश के चंदौसी (चाँद सी) की स्थापना महर्षि वाल्मीकि जी
चंदौसी सिटी, भार...
Likes: 355 | Visits: 4696
मकर संक्रांति | उत्तरायण - का विशेष महत्व
मकर संक्रांति - ê...
Likes: 359 | Visits: 3574




Motivational Stories
Interesting News
News
Indian Culture
About India
Devotional Section
Rising Stars
Just Born
Obituaries
Recipes
Jokes
Kids Section
SMS/Poems
 
Invite Your Friends
Report an Error



Users online now: 6


MatrimonialOur BankersSite MapFollow us: follow RastogiWorld.com on Twitterfollow RastogiWorld.com on Linkedin
- Matri Registration
- Matrimonial Login
- Forgot your ID or password
-------------------------------------------------
- Bride / Groom Search
- Matrimonial Advanced Search
- Read Success Stories
- Post a Success Stories
RBL (Ratnakar Bank Limited)
- About RastogiSamaj
- About us
- Advertise with us
- Report Error
- Contact Us
- FAQs
Testimonials:

Terms of Use | Privacy Policy | Disclaimer Policy | Cancellation & Refund Policy | Shipping & Delivery Policy
Content © rastogiworld.comSite Designed and Maintained by CreatiVitti eSolutions   |   Own a website in just Rs. 5000/-*  
Channel Partners: Envogue Services | Enterprise Value Added Services company providing communication solutions like SMS, Voice and WAP
If you are NOT able to view other member's Photograph / profile details, that means, in your own matrimonial profile, these details are missing.
We strongly recommend you to kindly complete your profile, in order to view complete profile of others.